Credit Card Kaise Banta Hai क्रेडिट कार्ड कैसे बनता है

Credit Card Kaise Banta Hai, क्रेडिट कार्ड आज के समय में किसी भी समान को ईएमआई पर खरीदने या कुछ दिन के लिए उधार लेने के लिए बहुत ही जरूरी चीज बन गया है।

ऑनलाइन कोई भी सेल हो वहाँ पर मिलने वाली लगभग हर छूट किसी न किसी क्रेडिट कार्ड पर ही मिलती है, ऐसे में जरूरत होने पर भी बिना क्रेडिट कार्ड के इसका लाभ नहीं मिल पाता।

Hello Friends, स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग पर, आज हम बात करेंगे कि कैसे आप क्रेडिट कार्ड बनवा सकते है (Credit Card Kaise Banta Hai) और कौन-कौन से तरीके है जिनसे क्रेडिट कार्ड बनवाया जा सकता है, मुझे उम्मीद है इससे आपको कुछ सीखने को अवश्य मिलेगा।

Credit Card Kaise Banta Hai in hindi
Credit Card Kaise Banta Hai in Hindi

क्रेडिट कार्ड क्या होता है? –

क्रेडिट कार्ड बैंक की तरफ से बनाया हुआ एक कार्ड होता है, जैसे कि नाम से ही स्पष्ट होता है, यह उधर के सिद्धांत पर काम करता है।

महीने में आप जो कुछ भी क्रेडिट की मदद से खर्च करते है, उसे तय समय सीमा के भीतर बिना किसी ब्याज के वापस कर सकते है।

यदि किए गए खर्च को पूरा नहीं चुका सकते है तो इसे किश्तों में भी वपस कर सकते है।

क्रेडिट कार्ड क्या होता है इसके बारे में पूरा जानने के लिए इस आर्टिकल को पढ़ें।

इसके अलावा समय-समय पर बैंक ऑफर और किसी भी समान को ईएमआई पर खरीदने के लिए लिए भी क्रेडिट कार्ड की जरूरत पड़ती है।

क्रेडिट कार्ड लोन का प्रकारCredit Line Loan
क्रेडिट कार्ड के लिए जरूरी डॉक्यूमेंटपैन कार्ड, आधार कार्ड, इनकम प्रूफ, सैलरी स्लिप इत्यादि
क्रेडिट कार्ड के लिए न्यूनतम उम्र21 वर्ष
बनवाने का प्रोसेसऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों
न्यूनतम सिबील स्कोर750

Credit Card Kaise Banta Hai –

क्रेडिट कार्ड बनवाने के कई तरीके है, आपको ये देखना है कि किस तरीके से क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाइ कर सकते है।

Against Fixed Deposit –

क्रेडिट कार्ड को बनवाने का सबसे आसान तरीका होता है एफडी के अगैन्स्ट क्रेडिट कार्ड लेना।

आमतौर पर इस तरह के कार्ड सभी को मिल जाते है, क्योंकि इसमें बैंक को किसी भी प्रकार का कोई भी रिस्क नहीं होता है।

जैसा कि नाम से ही स्पष्ट होता है फिक्स्ट डिपॉजिट के माध्यम से क्रेडिट कार्ड लेने की प्रक्रिया होती है।

इसके लिए सबसे पहले जिस भी बैंक का फड़ क्रेडिट कार्ड लेना चाहते है, उसके लिए तय की गई एक राशि को जमा करना होता है।

और उस एफडी के आधार पर एक क्रेडिट कार्ड बना दिया जाता है, आमतौर पर सभी बैंक एफडी के आधार पर क्रेडिट कार्ड देते है।

उदाहरण के तौर पर मान लेते है यदि आपने 10,000 रुपये जमा करके क्रेडिट कार्ड बनवाया तो आपको 10,000 की लिमिट का एक क्रेडिट कार्ड मिल जाता है।

एफडी में लगे पैसे तब तक उसमें जमा रहेंगे जब तक आप उस क्रेडिट कार्ड को यूज कर रहे होते है, इस पैसे को निकालने के लिए क्रेडिट कार्ड को बंद करना पड़ेगा।

क्योंकि एफडी पर क्रेडिट कार्ड व्यक्ति के द्वारा जमा किए गए पैसे पर ही मिलता है, इसलिए वह सिक्योरिटी मनी के रूप में काम करता है।

किसी कारणवश यदि यूजर क्रेडिट कार्ड के पैसे को नहीं चुका पता है तो बैंक उस पैसे को जब्त करके अपनी रिकवरी कर लेता है।

हालांकि जब तक आपके पैसे एफडी के रूप में जमा है उसपर बैंक ब्याज भी देते है, जिससे वह राशि बढ़ती रहती है।

एफडी के आधार पर क्रेडिट कार्ड उन लोगों को जो बैंकिंग सिस्टम में नए है, बीते समय में किसी क्रेडिट कार्ड या लोन को डिफ़ॉल्ट किया हो, या सिबील स्कोर बहुत कम हो ऐसे लोगों को दिया जाता है।

यदि आपका क्रेडिट कार्ड एप्लीकेशन इन कारणों में से किसी एक के या सभी के कारण रिजेक्ट होता है, तो एफडी के अगैन्स्ट क्रेडिट कार्ड लेना सही ऑप्शन रहता है।

एक बार जब इस कार्ड के माध्यम से आपकी क्रेडिट हिस्ट्री बं जाए तो उसके बाद किसी दूसरे कार्ड के लिए अप्लाइ कर सकते है और कोई अच्छा कार्ड मिलने के बाद एफडी पर लिए गए कार्ड को क्लोज करा सकते है।

with Income Proof –

क्रेडिट कार्ड लेने का दूसरा तरीका है, इनकम प्रूफ दिखाकर कार्ड लेना, यदि आप सैलरीड पर्सन है या आपका कोई बिजनेस है तो बड़ी ही आसानी से इनकम प्रूफ के आधार पर क्रेडिट कार्ड ले सकते है।

आमतौर पर इनकम प्रूफ के लिए बैंक कुछ डॉक्यूमेंट की मांग करते है, यदि आपका कोई बिजनेस कोई या आप कोई प्रोफेशनल है तो आपका आइटीआर (Income Tax Return), जिसमें कम से कम वार्षिक 3,50,000 का प्रॉफ़िट हुआ हो।

अलग-अलग बैंक की यह जरूरत अलग-अलग होती है, इसलिए इससे कम के आंकड़ों पर भी अप्रूवल मिल सकता है।

यदि आप जॉब करते है तो उसके लिए पिछले तीन महीने की सैलरी स्लिप और इससे संबंधित डॉक्यूमेंट की मांग की जाती है।

जॉब करने वाले व्यक्ति के लिए कम से कम 25,000 सैलरी होनी चाहिए है, यह भी पूरी तरह से अलग-अलग बैंकों की पॉलिसी के ऊपर डिपेंड करता है, कई बार बाकी सभी चीजें बैंक की पॉलिसी के हिसाब से ठीक है तो इससे कम इनकम होने पर भी आसानी से अप्रूवल मिल जाता है।

Card To Card –

कार्ड टू कार्ड, जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है, यह ऑप्शन उन लोगों के लिए होता है जिनके पास पहले से ही कोई क्रेडिट कार्ड मौजूद होता है।

यदि आपके पास पहले से ही कोई क्रेडिट कार्ड है तो किसी दूसरे बैंक के क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाइ करना चाहते है तो बड़ी ही आसानी से कर सकते है।

कार्ड टू कार्ड अप्रूवल लेने के लिए वैसे तो किसी भी तरह के इनकम प्रूफ की मांग नहीं की जाती है, लेकिन कुछ जरूरी चीजों को ध्यान में रखते हुए बैंक यह तय करता है कि आपको यह सुविधा मिल सकती है कि नहीं।

पिछले क्रेडिट कार्ड के यूज हिस्ट्री और टाइम पर किए गए रिपेमेंट के आधार पर बैंक कार्ड टू कार्ड के लिए अप्रूवल या रिजेक्शन करते है।

यदि आपने एफडी के अगैन्स्ट कोई कार्ड लिया है तो उसे भी कार्ड टू कार्ड सिस्टम के अंतर्गत अप्लाइ कर सकते है।

कार्ड टू कार्ड अप्रूवल देने से पहले बैंक के इन नियमों को पूरा करना जरूरी होता है।

आपके पास पहले से जो कोई भी कार्ड है, वह कम से कम 6 महीने पुराना होना चाहिए।

पुराने कार्ड पर लिमिट कम से कम 50,000 होनी चाहिए।

पिछले 6 महीने में आपका एक भी ईएमआई या पेमेंट लेट नहीं हुआ होना चाहिए।

इनमें से कुछ पॉइंट है जिनके पूरी तरह न फॉलो करने पर भी अप्रूवल मिल सकता है, लेकिन किसी भी स्थिति में आपका एक भी ईएमआई या पेमेंट लेट नहीं हुआ होना चाहिए।

इस पॉइंट को किसी भी यूजर को अप्रूवल देते समय ध्यान में रखा जाता है।

Select Best Credit Card –

आमतौर पर वैसे तो कई तरह के क्रेडिट कार्ड उपलब्ध है, जो कि अलग-अलग यूजर्स को टारगेट करते है।

इसलिए कोई भी क्रेडिट कार्ड खुद के लिए सलेक्ट करते समय अपने जरूरत के हिसाब से ही क्रेडिट कार्ड सलेक्ट करें।

आपके लिए कौन स क्रेडिट कार्ड बेस्ट रहेगा, इसके बारे में नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके पढ़ सकते है।

बेस्ट स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड
बेस्ट फ्री क्रेडिट कार्ड
बेस्ट कैशबैक क्रेडिट कार्ड
बेस्ट ट्रैवल क्रेडिट कार्ड
बेस्ट फ्यूल क्रेडिट कार्ड

Online Application –

आज के समय में क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाइ करने के लिए ऑनलाइन सबसे अच्छा माध्यम है, इसके लिए घर बैठे ही अपने स्मार्टफोन या कंप्युटर के माध्यम से फॉर्म फिल किया जा सकता है।

सभी बैंकों का क्रेडिट कार्ड को अप्लाइ करने का पोर्टल होता है जहां से आप जिस भी बैंक के क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाइ करना चाहते है, उस बैंक की ऑफिसियल वेबसाईट पर जाकर अप्लाइ कर सकते है।

Offline Application –

क्रेडिट कार्ड के लिए ऑफलाइन अप्लाइ करने के लिए आपको बैंक की शाखा में जाकर वहाँ पर क्रेडिट कार्ड के लिए फॉर्म को भरना होता है।

और उसके साथ जरूरी डॉक्युमेंट्स को अटैच करके सबमिट कर सकते है, फॉर्म से संबंधित जानकारी और अपडेटेड जानकारी के लिए आपको शाखा में पता करना पड़ेगा।

ध्यान दें जिस बैंक में आपका खाता है अगर वहाँ क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाइ कर रहे है तो यह एक प्लस पॉइंट के रूप में गिना जाता है।

क्योंकि बैंक को यह निर्णय करना आसान हो जाता है कि आपकी बैंकिंग हिस्ट्री कैसी है।

ऑनलाइन या ऑफलाइन आप किसी भी बैंक के क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाइ कर सकते है, भले ही आपका खाता हो या न हो।

Summary –

तो दोस्तों, क्रेडिट कार्ड कैसे बनवाए (Credit Card Kaise Banta Hai in Hindi), इसके बारे में यह जानकारी आपको कैसी लगी हमें जरूर बताएं, यदि आपके पास क्रेडिट कार्ड बनवाने को लेकर कोई भी समस्या आ रही है तो नीचे कमेन्ट बॉक्स में जरूर बताएं, धन्यवाद 🙂

A Student 📚, Digital Content Creator, Passion in Photography. इस ब्लॉग पर आपको टेक्नॉलजी, फाइनेंस और पैसे कमाने के तरीके से संबंधित टॉपिक्स पर जानकारियाँ मिलती रहेंगी, हमारे साथ जुड़ें - यूट्यूब, फ़ेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर

Leave a Comment

Latest Posts

Home     About Us    Contact Us    Privecy Policy    T&C    Disclaimer    DMCA